Hindi News day

Latest News in Hindi

सौंफ की तासीर, उपयोग, फायदे और नुकसान

सौंफ की तासीर , उपयोग ,फायदे और  नुकसान

आज हम सौंफ के बारे में बात करने जा रहे हैं। शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति हो, जो सौंफ के बारे में ना जानता हो। ज्यादातर लोग सौंफ को खाना खाने के बाद खाना पसंद करते हैं। खाना खाने के बाद इसको खाने से खाना आसानी से पच जाता है और दांत भी साफ हो जाते हैं। खाना खाने के बाद सौंफ को खाने से मुंह से आने वाली बदबू भी दूर हो जाती है और पाचन संबंधी समस्या भी दूर हो जाती है। रोजाना खाना खाने के आधे घंटे बाद सौंफ खाने से केलोस्ट्रोल काबू में रहता है। सौंफ आंखों की रोशनी बढ़ाने में भी मदद करती है। सौंफ खाने से गैस नहीं बनती, जिससे हमारा लिवर strong होता है और कब्ज की समस्या दूर होती है। आओ दोस्तों सौंफ के और क्या फायदे हैं हम जान लेते हैं।

सौंफ खाने के फायदे

 सांसों की बदबू को दूर करने में मददगार :- सौंफ माउथ फ्रेशनर का काम करती है। इसको चबाने से सांसों की बदबू दूर होती है। सौंफ को खाने से आपके मुंह से लार का उत्पाद होता है, जो आपके मुंह में छिपे पदार्थों को हजम करने में मदर करता है, जिससे सांसों की बदबू दूर होती है। सौंफ के पानी के साथ गरारे करने से सांसों की बदबू जल्दी दूर हो जाती है।

मासिक धर्म में होने वाली दर्द से राहत:- कुछ महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान पेट में दर्द रहती है। सौंफ खाने से मासिक धर्म में दर्द से थोड़ी राहत मिल जाती है। जिन महिलाओं को मासिक धर्म से पहले जा मासिक धर्म के दौरान दर्द होता है, उनको सौंफ का काढ़ा बनाकर पीना चाहिए। इसको पीने से दर्द से राहत मिलती है। एक गिलास पानी में एक बड़ा चम्मच सौंफ डालकर काढ़ा बनाकर पीने से दर्द में राहत मिल सकती है।

आंखों की रोशनी बढ़ाने में फायदेमंद :- सौंफ में विटामिन ए होता है, जो आंखों की रोशनी बढ़ाने में मदद करता है। अगर आपकी आंखें कमजोर है, तो आप सौंफ बदाम  मिश्री को मिलाकर एक मिश्रण बना ले। इस मिश्रण का एक चमचा रोजाना सुबह दूध के साथ लेने से आंखों की रोशनी बढ़ने लगती है।

मोटापा दूर करने में लाभकारी :- सौंफ मोटापा दूर करने में बहुत लाभकारी होता है। इसको खाने से भूख कम लगती है। पेट भरा भरा रहता है। जिससे हम ज्यादा खाने से बच जाते हैं। भुनी हुई सौंफ को पीस कर एक पाउडर त्यार कर ले। उस पाउडर का  आधा चमचा रोजाना खाने के आधे घंटे बाद खाने से आपके शरीर की चर्बी कम होने लगती है। जिससे मोटापा दूर होता है।

कब्ज से राहत :- सोने से पहले गुनगुने पानी के साथ सौंफ का प्रयोग करने से कब्ज से राहत मिलती है और गैस भी दूर होती है।

पेट के दर्द से राहत :- भुनी हुई सौंफ को गर्म पानी के साथ लेने से पेट के दर्द से राहत मिलती है।

गले की खराश से राहत :- सौंफ को मिश्री के साथ खाने से गला साफ हो जाता है और गले में होने वाली खराश से राहत मिलती है। सौंफ के चूर्ण को शहद में मिलाकर खाने से खांसी दूर होती है और गला साफ हो जाता है।

त्वचा के लिए फायदेमंद :– त्वचा की चमक बरकरार रखने के लिए सौंफ का प्रयोग करना फायदेमंद होता है। सौंफ के सेवन से चेहरे पर पिंपल नहीं होते और चेहरे की चमक बनी रहती है।

पाचन क्रिया के लिए फायदेमंद :- खाना खाने के बाद सौंफ का सेवन करने से खाना अच्छे तरीके से पंच जाता है। इसको खाने  से पेट दर्द, कब्ज, एसिडिटी, शूल जैसी पाचन समस्या से बेहद राहत मिलती है।

 ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में सहायक :- सौंफ में पोटेशियम की मात्रा ज्यादा होती है जो दिल की धड़कन और ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने में मदद करता है। इसलिए खाना खाने के बाद सौंफ को चबा चबा कर खाना सेहत के लिए बहुत लाभदायक होता है।

गर्भावस्था के दौरान सौंफ का प्रयोग :- गर्भावस्था के दौरान चक्कर आना एक स्वाभाविक बात होती है। सौंफ के बीजों का सेवन करने से इस समस्या से बचा जा सकता है। गर्भावस्था के दौरान महिला के शरीर में खून की कमी नहीं होनी चाहिए। महिला के शरीर में खून कमी हो जाए तो इससे उसके पेट में पल रहे शिशु को नुकसान हो सकता है। सौंफ में आयरन होता है, जिसका सेवन करने से खून की कमी नहीं होती। इसलिए गर्भवती महिला को अपने होने वाले शिशु के स्वास्थ्य के लिए सौंफ  का सेवन करना चाहिए।                    

डायरिया में आराम :- सौंफ का बेल के गद्दे के साथ सुबह शाम सेवन करने से डायरिया में आराम मिलता है।

खट्टी डकारे :- कई लोगों को खट्टी डकारे आती है। एक गिलास पानी में बड़ा चमक सौंफ डालकर उबाल ले। फिर उस पानी में मिश्री डालकर दिन में दो-तीन बार पीने से खट्टी डकारों से राहत मिलती है।

हड्डियों की मजबूती :-  हड्डियों को मजबूत रखने के लिए कैल्शियम बहुत जरूरी होता है। सौंफ में मैग्नीशियम विटामिन ऐ, आयरन और कैल्शियम जैसे तत्व होते हैं जो हड्डियों को मजबूत रखने में बहुत फायदेमंद होते हैं।

दिमाग के लिए फायदेमंद :- सौंफ की चाय पीने से दिमाग एक्टिव हो जाता है। इसे ब्रेन बूस्टर भी कहा जाता है। सौंफ का इस्तेमाल डिप्रेशन को भी दूर करता है।

अच्छी नींद के लिए :- कई लोग अच्छी नींद के लिए भी सौंफ का प्रयोग करते हैं। सौंफ में मैग्नीशियम जैसे तत्व पाए जाते हैं, जिससे नींद अच्छी आती है और नींद का समय भी बढ़ जाता है।  

स्तनपान के लिए लाभदायक :- सौंफ का सेवन महिलाओं में स्तन के दूध को बढ़ाता है। इसका प्रयोग करने से स्तनों का आकार भी बढ़ता है।

सौंफ का उपयोग करने का सही तरीका

 * सौंफ का सेवन माउथ फ्रेशनर के लिए किया जाता है।

 * सौंफ का उपयोग अचार बनाने में भी किया जाता है।

 * खाने के बाद सौंफ का सेवन करने से खून साफ होता है और पाचन शक्ति भी बढ़ती है।

 * सौंफ की चाय पीने से मोटापा कम होता है।

 * भुनी हुई सौंफ के पाउडर को मिश्री के साथ खाने से खांसी से राहत मिलती है और आवाज भी मधुर होती है।

 * रात को सोने से पहले गुनगुने पानी के साथ सौंफ का सेवन करने से कब्ज की समस्या दूर होती है।

 * एक गिलास दूध में आधा चम्मच सौंफ उबालकर पीने से पिंपल जैसी समस्या दूर होती है और हड्डियां भी मजबूत होती है।

 * खाना खाने के बाद सौंफ का सेवन करने से मुंह से दुर्गंध नहीं आती।

 * खाली पेट सौंफ खाने से खून साफ होता है।                      

 *  सौंफ का काढ़ा बनाकर पीने से सुखी खांसी में आराम मिलता है।

 सौंफ की तासीर

सर्दियों में सौंफ का इस्तेमाल अधिक मात्रा में नहीं करना चाहिए। सौंफ की तासीर ठंडी होती है, इसलिए सर्दियों में इसका सेवन करने से नुकसान भी हो सकता है। सौंफ का सेवन गर्मियों में करने से बहुत फायदा हो सकता है। गर्मियों में सौंफ के सेवन से फूड प्वाइजनिंग, एसिडिटी लू जैसी जैसी समस्याओं से बचा जा सकता है।

सौंफ के नुकसान 

जैसे कि आप सब जानते हैं, सौंफ के बहुत फायदे होते हैं। सौंफ हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है, जहां सौंफ के बहुत फायदे होते हैं वहां इसके नुकसान भी होते है। जिसमें से कुछ नुकसान निम्नलिखित है।

  • सौंफ की तासीर ठंडी होती है इसलिए इसका सर्दियों में उपयोग अधिक नहीं करना चाहिए।
  • जिन लोगों को गाजर और अजवाइन से एलर्जी होती है उनको सौंफ का सेवन करने से परहेज करना चाहिए।
  • गर्भवती महिलाओं को सौंफ का अधिक सेवन करने से परहेज करना चाहिए।
  • ज्यादा सौंफ का सेवन करने से त्वचा की  संवेदनशीलता बढ़ जाती है, जिससे हमारा धूप में निकलना मुश्किल हो सकता है।
  • सौंफ का अधिक सेवन करने से  छींक और पेट दर्द जैसी एलर्जी हो सकती है।
  • अगर आप पहले से किसी दवाई का सेवन करें है तो सौंफ का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से सलाह लें।
  • स्तनपान करा रही महिलाओं को सौंफ के सेवन से परहेज करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *